[Step by Step] अच्छे शेयर का चुनाव कैसे करे? यह 7 बातें जरूर देखें | How to Choose Stocks to Invest in 2022

how to choose stocks for beginners | how to select stocks for investment | how to select a stock for long term investment | how to select stock for long term | how to select stocks for long term investment | अच्छे स्टाॅक्स कैसे चुनें?
Table Of Contents

How to Pick a Good Stock (कैसे स्टाॅक चुनें?)

दोस्तों, अभी पुरी दुनिया में मंदी की स्थिती आनेवाली है ऐसा बहुत सारे Financial Expert कह रहे हैं लेकिन इसका ज्यादा असर भारत में देखने को नहीं मिलेगा क्योंकी इंडिया की Economy बहुत स्ट्राॅग दिखाई दे रही हैं। ऐसे में हम आपको इस आर्टिकल में how to choose stocks for long term investment यह बताने जा रहे हैं। ध्यान दिजीये मैंने Long term Investment कि बात बताने वाले हु ना की Intraday Trading तो चलिये देखते हैं Right Stock Select कैसे करें?

अगर आप Long Term Investment या Short term Investment करना हैं तो पहिले आपको कौन सा Sector अच्छा पर्फार्मेंस दे रहा है यह पहले जानना होंगा तो आपको सबसे पहले यह दिमाग में आयेगा की कौन सा सेक्टर अच्छा Performance दे रहा है यह कैसे पता करें तो इसके लिये आपको Share Market News को देखना और पढ़ना पड़ेगा, जो भी इवेंट्स हो रहे हैं जैसे February में हमारा Budget होता हैं जो की हमारे मिनिस्टर जाहिर करते हैं तो आपको किस सेक्टर को सरकार का ज्यादा प्रायोरिटी दे रही हैं यह देखना होगा।

अभी एक उदाहरण के तौर पे देखें तो पिछले बजेट में रोड्स, ग्राम सड़क, हायवे इसपर ज्यादा ध्यान देंगे। अगर हम एक हायवे का उदाहरण लें तो सबसे पहले Steel Sector की डिमांड दिमाग में आती हैं उसके बाद दुसरा सेक्टर Cement Sector दिमाग में आता हैं। इसके बाद पेट्रोल पंप लगेगें यानी Oil and Gas Sector पर फोकस आयेगा। इसके बाद बिल्डिंग्स भी बनेगी यानी Real Estate Sector आयेगा। इसके बाद Hotel Industries को भी थोड़ा बहुत Boost मिलेगा। उसके बाद Telecommunication Sector की जरुरत होगी तो यह भी सेक्टर फोकस में आयेगा। इससे आप समझ सकते हो एक सरकार के डिसीज़न से कितने सेक्टर पर इफेक्ट पड़ता हैं। इससे आपको यहां पता चल गया होगा की एक न्युज से हम कैसे Analysis कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:Stock Trading 1000 रुपयें रोज कमाये

How to Choose the Right Stock (कैसे पता करें कि किस शेयर में निवेश करना है)

अगर आपको शेअर मार्केट का गणित समजना हैं तो पहले आपको Daily Update रहना पड़ेगा। इसके लिये आपको Zee Business, CNBC News जैसी चैनल पर देख सकते हैं नहीं तो आप Financial Express, Ecomic Times, Moneycontrol जैसी वेबसाईट को पढ़ सकते हैं। अगर आपको फ्री में शेअर मार्केट को जानना है और अगर कोई सवाल पुछना हैं तो आप हमारे वेबसाईट पर भी पुछ सकते हों।

यह भी पढ़ें: बिना इंडिकेटर के ट्रेडिंग अथवा निवेश

What are the criteria for stock selection? (स्टॉक चुनने का सही तरीका क्या है?)

अभी हमने ऊपर रोड का उदाहरण लिये तो इसी की बात करते हैं इसमें हमें देखना होगा कोई न्युज से या बजेट की घोषणा से कौन-सा सेक्टर सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ हैं। तो इस केस में हम Cement Sector पकड़ते हैं तो इस सेक्टर में कौनसा Share Good Perform करेगा यह कैसे जानें। तो चलिये इसके लिये मैं आपको Screener.in इस वेबसाईट के रेफरेंस से आपको बताता हु की कैसे देखना हैं।

Market Capitalisation-

यह जितना बड़ा उतनी बडी कंपनी होती। आपको इसके लिये Screener.in पर जाकर आप फिल्टर लगाकर सबसे ज्यादा जो मार्केट कैप हैं वह आपको नोट कर लेना हैं। इसके बाद यही 5 Company's जो आपने निकाले हैं उसी को हम अगले Parameters के लिये Consider करना हैं। Sales Growth- कंपनी कितना सेल्स जनरेट कर पा रही हैं। जितनी ज्यादा सेल्स ग्रोथ करती है कंपनी उतना अच्छा पर्फार्मेंस दे रही हैं ऐसा आप मान सकते हैं।

Free Cash Flow-

यह मैं आपको बताता हु की क्या होता हैं। जो भी आप बिजनेस करते हैं यानी Day to Day खर्चा, इसके बाद Capital Expenditure जैसे खर्चा निकालने के बाद जो भी कैंश बाकी रहेगा उसे हम कहते हैं Free Cash Flow। यह जितना ज्यादा होगा उतना अच्छा होता हैं।ध्यान रखना मैंने ज्यादा बोला इसका मतलब पाॅसिटिव होना चाहिये निगेटिव नहीं।

Dept/Equity-

इसका मतलब कर्जा कितना हैं और Business में खुद से डाला हुआ पैसा इसका रेशों यानी D/E हम कह सकतें हैं। यह जितना कम होगा उतना अच्छा। यह रेशों 2:1 चलेगा इससे ज्यादा नहीं होना चाहिये।

Return on Equity-

यह इस प्रकार समझें, आपने कितना पैसा अपने Business में लगाया हैं उसका रिटर्न आपको कितना मिलता हैं इस कहते हैं रिटर्न ऑन इक्विटी। अगर आपने 1000 रुपये आपके बिजनेस में लगाये हैं और आपको इससे 10 रुपये रिटर्न मिल रहा हैं तो इसका ROE होगा 10%। ROE जितना ज्यादा उतना अच्छा।

Earning Per Share(EPS)-

इसका मतलब होता हैं कंपनी का प्रॅफिट को Total Number of Share से डिवाईड करें तो आपको EPS मिलेगा। EPS जितना ज्यादा उतना अच्छा।

Pros-

ऊपर दियें गये सब Parameters को फिल्टर लगाकर आपको जो भी कंपनी या मिलेंगी उसे आपको लेना हैं और उसमें में कंपनी के मोट देखने हैं यानी कंपनी में और क्या अलग हैं। उदाहरण के तौर पर मैंने यहां पर फिल्टर लगाकर मुझे Ultratech Cement यह कंपनी मिली तो Ultratech Cement India कि सबसे बड़ी और चायना को छोड़कर दुनिया की तिसरी बड़ी कंपनी निकलर आई। इसी प्रकार आप अन्य सेक्टर के भी अच्छे स्टाॅक्स आसानी से निकाल सकते हैं आप Screener.in इस वेबसाईट पर यह आसानी से निकाल पायेंगे।

यह भी पढ़ें: Financial Freedom कैसे हासिल करें?

इस स्टेप्स को फोलो करके आप आसानी से कोई भी और कैसे भी सेक्टर हो आप आसानी से Good Stock Buying के चुन सकते हों।

ऐसी ही अन्य कंपनीया और उनके टार्गेट प्राइस जानने के लिये यहां क्लिक करें।

FAQ

Q: Long term Investment वाली Stocks का मार्केट कैपिटलाइजेशन कैसा होना चाहिये?

Ans: जितना जादा मार्केट कैपिटलाइजेशन उतनी बडी कंपनी


Q: EPS का Long Form क्या होता हैं?

Ans: EPS का मतलब Earning Per Share होता हैं


Q: Stock Market में ROE का मतलब क्या होता हैं?

Ans: ROE का मतलब Return On Equity होता हैंं


Q: Stock Selection के लिये कौन से Parameters देखें?

Ans: Market Capitalisation, Salary Growth, Free Cash Flow, DOE, Return on Equity, EPS यह पॅरामिटर हमें देखने चाहिये।

अन्य पढ़ें:

फंडामेंटल एनालिसिस 5 मिनट में करें

Zero Risk निवेश का तरिका

इन्वेस्टमेंट कहा पर करें?

शेअर मार्केट के ऊपर 5 अच्छी किताबे

Post a Comment

0 Comments