Non Fungible Token: बच्चन और सलमान लायेंगे अपनी NFT's, कमाई का मौका? | NFT Meaning in Hindi | NFT se paise Kaise kamaye?

NFT क्या हैं? (NFT in Hindi)

आजकल हम यह शब्द बार बार सुनते होंगे लेकिन बहुत लोगो को एनएफटी क्या हैं? और इसके क्या फायदे और नुकसान हैं इसके बारे में शायद ही पता होगा।

NFT मतलब हैं कि Non-Fungible Token जो कि अभी इसका कंसेप्ट लोगों में नया हैं। तो आज हम इस टर्म के बारे में आपको पुरी जानकारी देनेवाले हैं ताकी आप जान सके कि Non Fungible Token क्या होते हैं और कैसे काम करती हैं।

    नाॅन फंजिबल टोकन क्या हैं? ( What is NFT Hindi? )

    इससे पहले हम Fungible का अर्थ समजते हैं। अगर आपके मित्र के पास सौ रुपयों का एक नोट हैं और आपके पास 50-50 रुपयों के दो नोट हैं तो आप उसे अदला बदली भी कर लेते हैं तो कोई फर्क नहीं पडेगा इसे Fungible कहा जाता हैं।


    हम एक और उदाहरण से समझाते हैं अगर आपको एक घड़ी चाहिये तो वह आप 200 से 1000 रुपयों तक मार्केट में ले सकते हैं लेकिन वहीं घड़ी अगर आपके माॅ ने आपको दी हैं तो यह अनमोल होगी उसकी किंमत आपके लिये करोंड़ों में होगी ऐसी ही चीजों को हम Non Fungible कह सकते हैं।

    Digital Form

    अब हम समझते हैं कि Non Fungible क्या होता हैं। समझ लिजियें अगर आप महेंद्रसिंह धोनी के नाम कि एक टिशर्ट मार्केट से लेनी है तो इसकी किंमत बहुत कम होगी लेकिन वहीं टिशर्ट को धोनी ने वर्ल्ड कप के दौरान पहना हुआ था तो उसकी व्हाल्यु बहोत ज्यादा होगीं। इसी टिशर्ट कि मानो महेंद्रसिंह धोनी डिजीटल ओनरशीप बनाते हैं तो उसे हम Non Fungible Token अर्थात NFT कह सकतें हैं। यह एक ऐसा टोकन होगा जिसका रेप्लिका यानी काॅपी बनना नामुमकिन होगा अर्थात यह एक टोकन बन जायेगा।


     अगर आपको क्रिकेट कि नाॅलेज नहीं है तो उसकी व्हाल्यु आपको नहीं समझ आयेगा लेकिन जो क्रिकेट कि समज रखता हैं उसके लिये इसकी व्हाल्यु बहोत ज्यादा होगी।

    अमिताभ बच्चन और सलमान खान लाॅन्च करेंगे अपनी एनएफटी ( NFT by Salman & Amitabh)

    अगर आप खबरें पढ़ते हो या देखते हो तो आपको शायद मालुम होगा की हमारे भारत के दो बड़े सेलिब्रिटीज अमिताभ बच्चन और सलमान खान भी अपनी NFT Launch करने कि तयारी में इससे आप अंदाजा लगा सकते हो की आगे आनेवाले दिनों में यह चींज कितनी बढ़नेवाली हैं।

    ब्लाॅकचेन कैसे काम करता हैं? ( How Blockhain exactly Works? )

    हम पुरा ब्लाॅकचेन यहां पे नहीं बतायेंगे इसके लिये आप हमारे क्रिप्टोकरेंसी रिलेटेड पोस्ट को पढ़कर जान सकते हैं।

    ब्लाॅकचेन समजने के लिये हम एक उदाहरण लेते हैं। अगर हम आम लेने जाते हैं तो हमारे यहा महाराष्ट्र में सबसे पहले हम आम बेचनेवाले से रत्नागिरी के आम की मांग करते हैं और हमें वो यह रत्नागिरी के आम हैं यह बोल के दे भी देता हैं लेकिन यहां पर कहीं पर भी हमें पता नहीं चलता की वह रत्नागिरी के ही हैं की और कोई दुसरी जगह से लाकर वह हमें रत्नागिरी आम के नाम से बेच रहा हैं। अगर इसे ब्लाॅकचेन आधारित चलाया जाये तो हम पता कर सकेंगे कि यह रत्नागिरी के आम हैं या नहीं इतना ही नहीं हम इसे कौनसे पेढ से निकाला हैं यह भी हम ब्लाॅकचेन से पता कर सकेंगे। जैसे हम क्युआर कोड का इस्तमाल करते हैं जैसे ही हम क्यु आर कोड स्कैन करते हैं तो उसी दुकानदार का नाम हमें दिखता हैं वैसे ही ब्लाॅकचेन में फ्राॅड होने की संभावना बहुत कम होती हैं।

    एनएफटी कैसे काम करता हैं? ( How NFT works? )

    यह काम करेगा ब्लाॅकचेन पर, आपको लगेगा यानी Cryptocurrency पर। यह बहुत बड़ी लोगों में गलत फैमी है कि क्रिप्टोकरेंसी मतलब ब्लाॅकचेन ऐसा बिल्कुल भी नहीं हैं। ब्लाॅकचैन के आधार बनी एक साॅफ्टवेयर पर सब क्रिप्टो काम करता हैं यानी ब्लाॅकचेन एक युजर केस पर यह काम करता हैं। क्रिप्टोकरेंसी ब्लाॅकचेन का एक छोटासा हिस्सा हैं।


    इसको समझने के लिये आपको हम उदाहरण देते हैं वर्ल्ड फेमस फुटबॉल स्टार और सेलिब्रिटीज मेसी और रोनाल्डों ने अभी अभी अपनी एनएफटी को लाॅन्च कर दिया हैं और इतना ही नहीं बल्की उससे ढेर सारा पैसा भी कमा चुके हैं।


    कुछ दिनों पहले हि एक नाॅर्मल दिखनेवाला विडिओ 48 करोंड़ में बिका हैं इससे आप अंदाजा लगा सकते हो कि NFT Future में क्या होनेवाला हैं।

    और एक विडिओ गेम में किसीने विडिओ गेम के अंदर जमीन खरिद ली हैं। आप लोगों को लग रहा होगा कि ये लोग पागल तो होंगे या इसके पिछे कोई बहुत बड़ा कंसेप्ट हैं।


    एनएफटी कैसे काम करता है या करेगा इसके लिये हम एक उदाहरण लेते तो जिससे आप अच्छे-से समझ जायेंगे कि एनएफटी का फंडा क्या हैं।


    आपको संदिप माहेश्वरी तो पता हि होगें जो कि इमेज़ बाजार के फाऊंडर हैं। अगर भारत में या बाहर के देश में किसी को संदिप महेश्वरी जी कि साईट कि इमेजेस इस्तमाल करनी है तो यह उनको अलग अलग पैकेजस देते हैं जिससे उस पॅकेज के तहत बहोत सारी इमेंजस कमर्शियल कामों के लिये इस्तमाल कर सकेंगा और इसके लिये पॅकेज लेनेवालों को कुछ राॅयल्टी देनी पड़ेगी इससे ही संदिप माहेश्वरी जी का बिजनेस चलता हैं। अगर दुसरा कोई इसका इस्तमाल बड़े तौर पर करता हैं तो संदिप माहेश्वरीजी कि कंपनी उसपर केस डाल सकती हैं यानी आप मान सकते हैं कि यह एक प्रकार कि एनएफटी का अच्छा उदाहरण हैं एनएफटी का सही में एक अर्थ निकाला जायें तो 'पेटेंट' यानी किसी चींज का अधिकार होना यह भी बोल सकते हैं।

    एनएफटी बनाने में क्या बाधा आ सकती हैं? (Problem for NFT)

    वैसे देखा जाये तो अभी इसका प्रसार होने में काफी वक्त हैं। लेकिन इसमें बहुत चीजे ऐसी हैं जिससे इसमें बहुत-सी बाधाये हैं।

    अगर आप उपर दिये गये रत्नागिरी आम का उदाहरण में अगर आप जानते भी हो कि यह रत्नागिरी का ही हैं या यह किस पेड़ से तोडा गया हैं तो भी लेनेवालों को इसे जानने में ज्यादा इंटरेस्ट नहीं होगा और वह जानके भी वह क्या करेगा और इसे ब्लाॅकचेन में लाने से उल्टा ग्राहक को ज्यादा पैसे खर्चने पड़ेगें इसलिये इसकी भी बहुत-सी लिमिटेशन्स हैं।

    इसलिये काफी जगह इसका कोई फायदा नहीं होगा और इतना प्रसार अभी तक हमारे देश में तो अभी नहीं हुआ हैं।

    और एक चीज अगर आप एन एफ हुसेन की पेंटिंग और दुसरी वैसी ही पेंटिंग में आपको फर्क पुछा जाये तो आपको दोनों समान ही लगेंगी इसलिये एनएफटी में आपको उसकी व्हाल्यु भी पता होनी बहुत महत्त्वपूर्ण हैं अगर ऐसा नहीं हैं तो आपके साथ इसमेंं बड़ा फ्राॅड भी हो सकता हैं।

    एनएफटी के फ़ायदे क्या हैं? ( Benefits of NFT)

    दरअसल यह एक पेंटेट कि तरह काम करेंगा यह एक प्रकार का एसेट होगा जिसका इस्तमाल करके आप लाखों रुपये क्या पायेंगे। आपके पास ऐसी कोई स्किल है या चींज हैं जिसकी डिमांड और सप्लाई काफी ज्यादा हैं उसकी अगर एनएफटी बनाकर रखोंगे तो आप उसकी राॅयल्टी या ट्रेडिंग से खुब पैसे कमा सकते हैं।

    हमारी राय ( NFT se paise Kaise kamaye)

    आजकल जो एनएफटी बन रहीं हैं वह इथेरियम प्लॅटफाॅर्म से बन रहीं हैं अगर आप अपनी कोई चींज या एस्टेट की एनएफटी करना चाहते है तो आपको उसके लिये रजिस्टर करना पड़ेगा और अभी NFT Market के हिसाब से एनएफटी रजिस्टर करने के लिये आपको 30 से 35 हजार रुपयें देने पड़ रहें हैं। इसलिये किसी भी चीज की एनएफटी निकालने के लिये आपको मार्केट में उसकी डिमांड और सप्लाई को समजना बहुत जरुरी हैं। जबतक आपको एनएफटी कि पुरी जानकारी ना हो तब तक आप इसकी ना सोचें तो ही बेहतर रहेगा।


    क्रिप्टोकरेंसी के बारे में जानकारी चाहिये तो यहां क्लिक करें पढ़ सकते हैं।


    FAQ:

    Q: NFT का लाॅग फाॅर्म क्या हैं?

    Ans: NFT मतलब "नाॅन फंजिबल टोकन" होता हैं।


    Q: NFT कैसे बनाएं?

    Ans: इसके लिये आपको किसी एनएफटी प्लॅटफाॅर्म पर जाकर रजिस्टर करना होगा इससे एक व्हाल्यु क्रियेट हो जायेगी।


    Q: NFT से पैसे कैसे कमाये?

    Ans: यह लगभग पेटेंट और राॅयल्टी के जैसी काम करता हैं जिससे आप पैसा कमा सकते हो या आप इसमे ट्रेड करके या इसे भांडे पर देकर भी पैसे कमा सकते हैं।


    Q: NFT सबसे पहले किसने Create किया हैं?

    Ans: केविन माकोय और अनिल द्यास नामक व्यक्ती ने।


    Q: NFT कि शुरवात कब से हुई हैं?

    Ans: साल 2014।


    अन्य पढें:
    Nishant Patil

    मेरा नाम Nishant Dhanpal Patil है। मै कोल्हापुर, महाराष्ट्र मैं रहता हु. मैंने शिवाजी युनिवर्सिटी से मेकॅनिकल इंजिनियर की शिक्षा पुर्ण की है। मैं शेयर मार्केट, म्युचुअल फंड, क्रिप्टो, टेक्नालॉजी, बिजनेस आइडियास, योजना, एप्लिकेशन इन विषयों पर लिखता हुं।

    Post a Comment

    Previous Post Next Post