[ e-Rupi] ई-रुपी क्या हैं और कैसे Work करता है? | e-Rupi Digital Platform in Hindi 2021

पी एम मोदी जी ने सोमवार 2 August 2021 को दोपहर को एक विडियो काॅन्फरस बुलाके एक Digital Payment Platform e-RUPI  को लाॅन्च कर दिया हैं.
यह Platform पुरी तरह से काॅनटेक्टलेस और संपर्क रहित आसान होने के लिये बनाया गया है. तो चलिये अब देखते है विस्तार से कि आखिर ई-रुपी क्या है और यह कैसे काम करेगा और इसके क्या क्या लाभ मिलेंगे.

    ई-रुपी क्या है? ( What is e-Rupi ) 

    डिजिटल भुगतान के लिये यह है एक Contactless or Cashless प्लॅटफॉर्म हैं.है NPCI ( भारतीय राष्ट्रीय भुगतान नियम) ने UPI  Platform पर स्वास्थ्य, परिवार कल्याण मंत्रालय, वित्तीय सेवा विभाग और राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्रधिकरण इन सभी की सहयोग से यह बनाया हैं.

    ई-रुपी कैसे काम करता हैं? (How e-Rupi Work? )

    असल मे ई-रुपी एक प्रीपेड ई-वाऊचर हैं, जो की SMS स्ट्रिंग या QR Code  के रूप मे काम करता हैं जिसे उपयोगकर्ता के फोन मे भेजा जायेगा.
    यह बिना किसी इंटरनेट बॅकिंग, कार्ड या ऐप्लिकेशन के एक्सिस के यह वाउचर काम करेगा. यह ई- रूपी प्लॅटफॉर्म बिना किसी इंटरफेस के सेंवा देने वालो को उपभोगता को जोडने का काम करेंगा.

    ई- रुपी का इस्तमाल कहा कहा हो सकता हैं ( e-Rupi Uses)

    वैसे देखा जाये तो बहुतसारे  उपयोग होंगे.
    पंतप्रधान जन आरोग्य योजना
    उर्वरक सबसिडी
    टीबी उन्मूलन कार्यों में.
    पोषण संबधीत सहायता
    बाल कल्याण योजनाओं मे दवाई मे
    निजी क्षेत्र कर्मचारी कल्याण
    कार्पोरेट सामाजिक दायित्व कार्यकम
    इन सब मे ई-रुपी डिजिटल वाउचर का इस्तमाल हो सकता हैं.

    ई- रुपी के क्या क्या फायदे हैं? ( e-Rupi Benefits)

    ई- रुपी के बहुत सारे फायदे हैं उसमे से कुछ इस प्रकार
    1. आप बिना किसी इंटरनेट कनेक्शन के अपन भुगतान वाउचर के जरिये पा सकते हैं.
    2. यह बीना किसी इंटरनेट इंटरफेस के Digital तरिके से सेवा प्रदाताओं और लाभार्थियों को जोडता हैं.
    3. इसमे लेनदेन पुरा होने के बाद सेवा प्रदातो को भुगतान हो इसका खयाल रखा जाता हैं.
    4. यह प्रीपेड वाउचर के रुप मे होता हैं इसलिये बीच मे किसीका हस्तक्षेप नहीं रहता इसलिये समय पर भुगतान या पेमेंट हो जाता हैं.
    5. इसकी वजह से अनेक कल्याणकारी योजनाओं को करप्शन मुक्त रुप से आपुर्ती करता है.
    6. ई- रुपी एक अंडरलाइंग ऐसेट का काम करेगा.
    7. इससे कल्याणकारी योजनाओं के बिना किसी लिकेज के डिलीवर किया जा सकेगा.

    ई-रुपी वाउचर किस प्रकार प्रदान होंगे ( e-Rupi Voucher Issue)

    इस System को NPCI ने UPI Platform पर बनाया हैं, Bank इसे जारी करेंगे, जो बैंक इसे जारी करेगा वह इसका एटिटी होंगे.
    किसी भी सरकारी या कारपोरेट कंपनीयोंको या किसी पर्सन को किस उद्देश से भुगतान किया जा रहा हैं  इसे सरकारी या नीजी बैंक से संपर्क करना होगा. इसमे Benigicar कि पहचान उसके मोबाईल नंबर से होगीं.
    Bank Service Provider को एक Voucher जारी करेगा जिसे किसी खास व्यक्ति के नाम पर होगा और उसेही वह डिलीवर होगा.

    FAQ

    Q:  ई-रुपी कब लाॅन्च हुआ है?
    Ans: यह 2 अगस्त 2021 को लाॅन्च हुआ हैं.

    Q: ई-रुपी क्या है?
    Ans. यह एक काॅटेक्टलेस और कैशलेस प्लॅटफॉर्म यानी की कैशलेस डिजिटल पेमेंट सोल्युशन हैं.

    Q: ई- रुपी सेवा किसने लाॅन्च कि है?
    Ans. यह सेवा भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीने लाॅन्च की है.

    अन्य पढें

    UPI Id को Delete कैसे करें?

    अपना UPI ID पता कैसे करें?

    Nishant Patil

    मेरा नाम निशांत पाटील है। मै कोल्हापुर, महाराष्ट्र मैं रहता हु. मैंने शिवाजी युनिवर्सिटी से मेकॅनिकल इंजिनियर की शिक्षा पुर्ण की है। मैं शेयर मार्केट, म्युचुअल फंड, क्रिप्टो, टेक्नालॉजी, बिजनेस आइडियास, योजना, एप्लिकेशन इन विषयों पर लिखता हुं।

    Post a Comment (0)
    Previous Post Next Post