Gold as an investment 2021 | सोने मे इनवेस्टमेंट करना क्या सही है या गलत?

पहले के जमाने मे जादातर लोग सोने-चांदी मे इनवेस्टमेंट करना पसंद करते थे क्योंकि उन्हें मालुम था की आज नहीं तो कल इसके भाव बढेगें और हमने जो भी इनवेस्टमेंट की है उसके बहुत अच्छे रिटर्न्स मिलेंगे| 
लेकिन आजकल सोने- चांदी मे इनवेस्टमेंट करनेवाले कम लोग ही बचे है, पुराने खयालातवाले लोग ही अब सोंने चांदी कटकी बाते करते हुये दिखाई देते है.
आजकल तो जादातर म्युचअल फंड, शेअर मार्केट और प्रोपर्टी में इनवेस्टमेंट करते दिख रहे है. फिजीकल सोने-चांदी मे इनवेस्टमेंट अभी तो कम हो गई है लेकिन डिजीटल रुप मे सोने-चांदी खरिदना बढ गया है कई लोग इसमे ट्रेडिंग भी करते है.
लेकिन सोने-चांदी मे हमे Investment करने से पहले बहुत सारी बातें जान लेनी चाहिये जो की बहुत काम कि है. तो चलिये देखते है की Gold as an Investment कितना सही है या गलत. 

    Gold खरिदने के कौन-कौन से तरिके है?

    देखा जाये तो Gold खरिदने के बहुत से तरिके है, आप किस किस माध्यम से इसे खरिद सकते है इसके बारे मे हम आपको बतायेंगे.

    1. Physical Gold क्या होता है? 

    यह आमतौर पर पुराने जमाने से चली आनीवाली पद्धती है जिसमे हम किसी दुकान मे जाके जो भी उस दिन का Gold Price चल रहा होगा उसके हिसाब से हम उसे खरिदते है और सोने का हार या कोई अन्य ज्वैलरी या गोल्ड बिस्किट के रुप मे हम इस खरिदते है.
    अभी भी हमारे देश मे Physical Gold खरिदने वालो की संख्या जादा है.

    2. गोल्ड ईटीएफ क्या है? 

    ETF यानी Exchange Traded Fund. इसके लिये आपके पास Demate Account होना चहिये.  इसके जरिये आप आपके Demate Account पर जो भी बॅकग्राऊंड अकाउंट जुडा है उसी माध्यम से पैसे देकर जितने भी Units आप खरिदना चाहते है उतने आप Unit के हिसाब से खरिद सकते है. 

    3. Paytm, Phone pe से Gold कैसे खरिदे? ( Digital gold ) 

    आजके समय मे यह तरिका बहुत जादा लोग इस्तमाल कर रहे है इसमे भी आपको आपके Paytm, Phone Pe जैसे Digital Payment Wallet मे Gold खरिदने का ऑप्शन मिल जायेगा इसके जरिये आप इसे खरिद सकते है.
    इसमे आप 1 रुपय से लाखो रुपयों के भी सोना खरिद सकते हो.

    4. Mutual Fund Gold क्या है?

    म्युचुअल फंड मे कई प्रकार के फंड होते है, जैसे Small Cap equity fund, Large Cap Equity Fund, Dept Fund, Direct fund वैसे ही Gold Fund भी शामिल होते है इसमे आप इसके युनिट्स खरिद सकते है जो की जैसे गोल्ड की किंमत बढेगी या गिरेगी वैसे आपके खरिदे हुये युनिट्स की किमते बढेगी या गिरेगी.

    5.Futures and Options में कैसे खरिदे सोना? 

    आप चाहे तो सोने को Commodity Market मे Trading करने के लिये खरिद और बेच भी सकते है. लेकिन यह आप एक सिमीत समय के लिये ही खरिद सकते है इसकी महिने और हप्ते के हिसाब से  एक्सपायरी होती है उस हिसाब से आप इसे खरिद सकते है और इसमे ट्रेडिंग कर सकते है.

    Gold Investment Returns कितना मिलता है?

    यह कोई फिक्स्ड नहीं होता कभी कभी बहुत जादा रिटर्न इसमे मिल जाते है, 30,40 साल पहले अगर आप इसमे इनवेस्टमेंट करते तो वह अच्छा तरिका था लेकिन कई कारणों से फिलाल के कुछ वर्षों का रिटर्न्स देखे तो बहुत सिमित रह गये है.
    अवरेज देखा जाये तो इनमे बॅक और दुसरे तरिके से जादा रिटर्न्स आपको मिल जाते है लेकिन कई कई बार यह सिमित दायरे मे ही रहता है.
    Gold Rates बहुत सी चीजो पर अवलंबन होता है जैसे, 

    उपभोक्ता की Demand और Supply पर यह उपर नीचे होते रहता है.
    डाॅलर और रुपयों कि किमते का गोल्ड पर असर नहीं पडता लेकिन जादूगर सोना Import किया जाता है  इसलिये इसकी रुपया गिरते ही सोने की मांग भी कम हो जाती है.
    आजतक देखा गया है की दुनियाभर मे जब भी राजनैतिक तनाव बढता है तब सोने मे निवेश बढ जाता है.
    जब भी अमेरिकन डाॅलर गिरता है तब सोने की मांग  है क्योंकि आंतरराष्ट्रीय बाजार मे सोने की किमते डाॅलर मे होती है इसलिये बाजार मे कमजोरी आने पर लोग सोने की तरफ देखते है.
    जब भी शेअर मार्केट आदी गिरता है तो लोग वहीं पैसा सोने मे इनवेस्टमेंट करने के लिये इस्तमाल करते है. तब अमूमन सोने के भाव बढते है.
    भारत मे हर साल लगभग 800 टन से भी जादा सोना खपत होता है और उसमे से जादा हिस्सेदारी गावों मे होती है क्योंकि ग्रामीण इलाकों मे बचत या इनवेस्टमेंट के रुप मे सोने को खरिदा जाता है अगर मानसुन बारिश कम हो जाती है तो सोना बेचकर लोग धन जुटाते है. 
    यही नही ऐसे कई सारे और फॅक्टर्स है जो की सोने की किंमतो पर असर करती है.

    आज का सोने का भाव कितना चल रहा है?

    आज 15 जुलै को आज के सोने का भाव देखे तो यह लगभग 1 तोला ( 24 करेंट) सोने का भाव 49,960 भारतीय रुपये चल रहा है.
    यही सोने का भाव दिसंबर 2016 को लगभग 27400 रुपयें चल रहा था. अगष्ट 2020 में यही सोने का भाव लगभग 57000 रुपयों तक पोहच गया था.

    सोने मे इनवेस्टमेंट करने के फायदे?

    1. सोने का भाव हमेशा स्टेबल ही रहता है इसलिये यह बहुत कम रिस्की है.
    2. जादातर शेअर मार्केट बढता है तो सोने का भाव कम होता है और अगर सोने का भाव बढता है तो शेअर मार्केट जादातर निचे आता है इसलिये आप रिस्क से बचने के लिये शेअर मार्केट के साथ साथ Hedge करके भी रख सकते है, इससे आपका रिस्क ना के बराबर रहेंगा.
    3. अगर आप अपने पोर्टफोलियो का Diversification करना चाहते है तो यह सबसे बेहतर तरिका होगा.
    4. इसे आप Physical और Digital ऐसे दोनो रुप मे खरिद या बेच सकते हो.
    5. लंबे अवधी में देखा जाये तो इसमे इनवेस्टमेंट बॅक डिपाॅसिट से भी जादा रिटर्न्स दे सकता है.
    सोने मे इनवेस्टमेंट करने के नुकसान ?
    1. सोने की ज्वेलरी खरिदते है तो आपको इससे कोई भी डेली इनकम नहीं होती, अगर आप म्युचुअल फंड या शेअर मार्केट मे इनवेस्टमेंट करते है तो आप इससे रोज की थोडी बहुत कमाई पा सकते है.
    2. सोने को खरिद कर घर मे रखना इसका बहुत बडा ड्राॅबॅक है यह चोरी होने का भी डर रहता है अगर आप डिजिटल सोना या ई- गोल्ड खरिदते है तो आप इससे बचे रहेंगे.
    3. भारत मे सोने के भाव इंटरनेशनल मार्केट पे डिपेंड करते है इसके भाव का प्रेडिक्शन लगना लगभग ना मुनकिन है.
    4. अगर आप सोने की ज्वेलरी, काॅईन या सोने की बिस्किट के रुप मे इसमे इनवेस्टमेंट करते है तो कुछ दिन बाद अगर आप वह बेचने जायेंगे तो आपको उसकी किमत थोडी बहुत कम मिलेगी.
    5. अगर आप डिजिटल प्लॅटफॉर्म पे सोना खरिदते है तो आपको खरिदने और बेचने के भाव मे कम जादा भाव देखने को मिलेगा.
    6. सोना एक Unproductive Asset है, जो भी आप सोना खरिदते हो उसका देश के इकाॅनाॅमी पर कोई अच्छा असर नहीं पडता है. 

    सोने मे इनवेस्टमेंट करना सही रहेगा या गलत?

    अगर आप दुसरे इनवेस्टमेंट को Hedge करने के लिये सोने मे निवेश कर सकते है यही सही तरिका रहेगा. अगर आप Physical सोने की बजह Digital Gold खरिदते है तो आपको जल्दी बेचने मे आसानी होगी और उसकी किंमत मे कोई कमी नहीं पकडेगें.
    डायवर्सिफिकेशन के लिये बाकीयों के साथ सोने मे इनवेस्टमेंट करना सही तरिका रहेगा. सिर्फ और सिर्फ सोने मे सब इनवेस्टमेंट मत करिये क्योंकी यह बहुत सारे Unpredictable  फॅक्टर्स पे अवलंबन है इसका अंदाजा लगना ना मुनकिन है.

    FAQ

    Q: Gold मे हम किन किन माध्यम से इनवेस्टमेंट कर सकते है? 
    Ans: Gold मे हम Physical, E Gold यानी Digital  Gold, Mutual Gold Fund, Gold Bees  इन तरिकों से सोने मे इनवेस्टमेंट कर सकते है.

    Q: कम से कम कितने रुपयों से हम गोल्ड मे निवेश कर सकते है?
    Ans: आप 1 रुपये से भी सोने मे इनवेस्टमेंट चालु कर सकते है.

    Q: सोने के भाव किस किस चीज पर अवलंबित रहते है? 
    Ans: Inflation, Liquidity, Supply & Demand, International Market Rumors, Flow of Cash, Financial Products and services, Mansoon जैसे अनेक फॅक्टर्स पर सोने के भाव कम जादा होते रहते है.

    Q: सोने के भाव कोन तय करता है? 
    Ans: सोने के भाव Indian Bullion Jewellers Association (IBJA) तय करता है.
    अन्य पढें:

    Nishant Patil

    मेरा नाम Nishant Dhanpal Patil है। मै कोल्हापुर, महाराष्ट्र मैं रहता हु. मैंने शिवाजी युनिवर्सिटी से मेकॅनिकल इंजिनियर की शिक्षा पुर्ण की है। मैं शेयर मार्केट, म्युचुअल फंड, क्रिप्टो, टेक्नालॉजी, बिजनेस आइडियास, योजना, एप्लिकेशन इन विषयों पर लिखता हुं।

    Post a Comment

    Previous Post Next Post