Litecoin क्या है? कैसे यह Bitcoin से अलग है ?

Litecoin Kya hai In Hindi ? 

(Litecoin news today, Prize, How to Buy, India, Future,Risk) 
दोस्तो हमने पिछले ब्लाॅग मे  Bitcoin और Dogecoin की Detail मे बात की पर आज हम एक ऐसे ही चर्चित Crypto Currancy की बात करेंगे जिसका नाम है Litecoin.
Bitcoin के बाद अगर किसी Crypto Currancy का नाम आता है तो वह है Litecoin. 
Litecoin को Bitcoin का छोटा भाई भी कहा जाता है, जहा  Bitcoin Gold है वहा Litecoin Silver. 

    Litecoin क्या है? 

    Litecoin भी Bitcoin की तरह ही एक प्रकार की Crypto Currancy है. यह Peer To Peer Internet Currancy  है. यह लगभग Bitcoin  की तरह ही काम करती है.
    यह भी एक De-centralized Currancy है इसे कोई Bank अथवा कोई Institution कंट्रोल नहीं करती.
    Transaction Block की बात करे तो इसे माईन किया जाता है.
    Market Cap की बात करे तो यह दुनियाभर मे 5 वें नंबर आती है. Litecoin को बिटकाॅईन का छोटा भाई भी कहा जाता है.

    Crypto Currancy क्या होती है? 

    क्रिप्टो करेंसी एक प्रकार की डिजिटल करेंसी होती है जिसे Currancy Exchange के तौर पर इस्तमाल किया जाता है.
    यह De-centralized  Currancy होती है इसे किसी भी देश की सरकार कंट्रोल नहीं कर सकती.

    Litecoin कि शुरवात कब और किसने की है?

    Litecoin का जन्म साल 2011 को बनाया गया था. इसका अविष्कार Charlie Lee ने किया था, वह Google के Employee रह चुके है.
    दरसल Litecoin को Bitcoin की Replacement के तौर पर बनाया गया था, ताकी उसकी Mining Pool  और ट्राझॅक्शन की Timing को लगनेवाला समय कम हो.
    Lee ने इसका कोर कोड बिटकाॅईन से लिया है इसका Transaction Time लगभग Bitcoin के मुकाबले 4 गुना जादा है.

    Bitcoin और Litecoin मे क्या अंतर है?

    Bitcoin का अविष्कार लगभग साल 2009 मे हुआ था और Litecoin का साल 2011 मे हुआ था. Bitcoin का Transaction time लगभग 2.5 मिनट का है तो Litecoin का 10 मिनिट का है. लाईटकाॅईन की पुरी Coin Supply है लगभग 21 मिलियन वही बिटकाॅईन की है 84 मिलियन.
    Litecoin को क्रिप्टो करेंसी का Silver कहा जाता है तो Bitcoin को Gold. 

    Litecoin कीमत

    दरसल यह भी बिटकाॅईन की तरह ही उपर नीचे होती रहती है लेकिन आज के समय यानी जुन 2021 मे यह लगभग भारतीय रुपयो की तलना से बात करे तो 10,000 रुपये के बराबर 1 Litecoin कीमत चल रही है.
    यह उपर नीचे होते रहता है Litecoin price prediction करना नामुनकिन है क्योंकी आप दुनियाभर के लोगो के मन मे क्या चल रहा है यह कभी नहीं जान सकते.

    Litecoin को कैसे खरिदे ?

    अगर आपके पास कोई और क्रिप्टो करेंसी या Bitcoin है उसे देकर भी उसके बदले आप Litecoin को खरिद सकते है.
    भारत मे ऐसे बहुत सारे Platform है जिसकी मदत से आप Litecoin खरिद सकते है.
    CoinSwitch Kuber App और Coin DCX जैसे  Crypto Currancy Exchange Platform है जहा से आप आसानी से Litecoin या दुसरे भी Crypto Currancy खरिद सकते है इसके लिये आपको सिर्फ कोई भी एक प्लॅटफॉर्म पर आपकी Online KYC पुरी करनी होती है.

    Litecoin Mining किस प्रकार की होती है? 

    Litecoin के Mining के लिये Hashing Algorithm का इस्तमाल होता है, इनमे GPU  और CPU का इस्तमाल होता  जब Transaction पुर्ण होते है तब इने Verify किया जाता है. जब ब्लाॅक को सुलझाया जाता है तब मायनर्स को अपने अपने हिस्से का पैसा मिल जाता है जिन्होंने भी यह मायनींग करने के लिये अपना समय दिया था.
    यह Mining के लिये जिस Algorithm का इस्तमाल करते है वह बहुत ही  Complex होता है, जिसे Scrypt भी कहा जाता है. अलग algorithms का इस्तमाल मतलब अगल अगल Hardware का इस्तमाल करना.
    जो भी बिटकाॅईन की Mining करते है उन्हें यह हार्डवेयर बदलना पडता है तब जाके वह लाईटकाॅईन की Mining कर सकते है.

    Litecoin का भविष्य:

    इसका Transaction समय Bitcoin की तुलना मे बहुत ही कम है और उसकी फिस भी बिटकाॅईन के मुकाबले बहुत कम लगती है इसलिये आगे जाके इसकी किमत बहुत बढ सकती है.
    हो सकता है की यह आगे जाके Bitcoin Prize को भी पिछे छोड दे क्यों की इसके बहुत से Advantage है अगर तुलना करे  Bitcoin Crypto Currancy की.

    क्या हमे Litecoin को खरिदना चहियें?

    दरसल Litecoin हो या Crypto Currancy यह De-centralized Currancy होती है इसपर किसी भी देश का Control नहीं होता अगर आपके साथ कुछ गलत भी हो जाते है तो आप इसकी Compaint भी नहीं कर सकते इसलिये इसमे उतना ही पैसा आप इनवेस्टमेंट करे जितने पैसे का आपको गवाने से भी कुछ नुकसान ना हो.
    ऐसा भी हो सकता है की यह आनेवाले समय मे Bitcoin की किमत को भी पार करदे और ऐसा भी हो सकता है की यह जेरो हो जाये या खतम भी हो जाये तो ऐसे मे Litecoin, Ripple, Binance, Ethereum, Dogecoin हो या Bitcoin  सभी मे इनवेस्टमेंट का वहीं मतलब होगा.
    Crypto Currancy हो या Share Market हो या फिर म्युचुअल फंड आप जिस मे भी इनवेस्टमेंट करेंगे एक चीज तो माननी पडेगी कि जितना रिस्क जादा होता है वहा उतना ही जादा रिटर्न्स भी होता है और जितना रिस्क कम उतने रिटर्न्स कम.

    निष्कर्ष / Conclusion:

    Litecoin हो या Bitcoin आखिर मे है तो De-centralized Crypto Currancy ही तो कुछ फायदे तो है अगर Bitcoin से तुलना करे तो लेकिन क्रिप्टो करेंसी की बात करे तो इसमे काफी Volatility रहती है यह बहुत उपर नीचे होते रहते है अगर आपको बिटकाॅईन नहीं खरिदने तो आप Litecoin को ओप्शन में रख सकते है.
    अन्य क्रिप्टोकरेंसी के बारे में जानकारी चाहिये तो यहां क्लिक करें पढ़ सकते हैं।

    FAQ

    Q: Litecoin क्या है? 
    Ans: Litecoin भी Bitcoin  की तरह ही एक डिजीटल वर्चुअल क्रिप्टो करेंसी है जो की Peer to Peer Internet Currancy के नाम से जानी जाती है.

    Q: Litecoin किस साल लाॅन्च किया गया? 
    Ans: इसे 2011 को लाॅन्च किया गया.

     Q: Litecoin का अविष्कार किसने किया था? 
    Ans:  चार्ली ली ने इसका अविष्कार किया था.

    Q: आजके समय Litecoin की क्या किमती है? 
    Ans:  लगभग 10,000 भारतीय रुपये = 1 Litecoin. 

    Q: Litecoin को कैसे खरिद सकते है? 
    Ans: Litecoin को आप किसी भी Crypto Currancy Exchange Platform से खरिद और बेच सकते है.

    Q: Litecoin का क्या Symbol है? 
    Ans: Litecoin का Symbol है LTC.
    अन्य पढे:

    No comments

    Powered by Blogger.